Raakh Lyrics in Hindi English – राख – Shubh Mangal Zyada Saavdhan-Hindi song-Lyricsnets

Raakh Lyrics in Hindi English – राख – Shubh Mangal Zyada Saavdhan-Hindi song-Lyricsnets – Arijit Singh . Lyrics

 https://www.lyricsnets.com

Singer Arijit Singh .
Song Writer Vayu

Raakh Lyrics in Hindi( राख )

वो कहते है इश्क़ हद में करो

जो इश्क़ क्या है ना जाने

ये दिल तो अनपढ़ देहाती सा है

क्या कुछ लिखा है क्या जाने

बाहर से देखा जिन्होंने

अंदर चले क्या क्या जाने

हम जल जायेंगे राख बचेगी

इश्क़ में एक ना आग बचेगी

फिर भी इन सिली आखों में

आखरी लौ तक आस बचेगी

जल जायेंगे राख बचेगी

इश्क़ में एक ना आग बचेगी

फिर भी इन सिली आखों में

आखरी लौ तक आस बचेगी

चुप तो ना होगी मोहोबत

दुश्वारियों से डरा के

उम्मीद इसका लहू है

है दर्द इसकी खुराकें

जितनी जख्म और जुड़ेंगे

उतनी बढ़ेंगी ये शाखे

वो काट डाले हमे चाहे रोज

जिद जड़ में है क्या करे

एक प्यार एक जंग

दोनों के दोष

एक घर में है क्या करेंगे

एक दिल ही बोहोत है

किस किस की परवाह करेंगे

हम

जल जायेंगे राख बचेगी

इश्क़ में एक ना आग बचेगी

फिर भी इन सिली आखों में

आखरी लौ तक आस बचेगी

जल जायेंगे राख बचेगी

इश्क़ में एक ना आग बचेगी

फिर भी इन सिली आखों में

आखरी लौ तक आस बचेगी


Raakh Lyrics in English

vo kahate hai ishq had mein karo

jo ishq kya hai na jaane

ye dil to anapadh dehaatee sa hai

kya kuchh likha hai kya jaane

baahar se dekha jinhonne

andar chale kya kya jaane

ham jal jaayenge raakh bachegee

ishq mein ek na aag bachegee

phir bhee in silee aakhon mein

aakharee lau tak aas bachegee

jal jaayenge raakh bachegee

ishq mein ek na aag bachegee

phir bhee in silee aakhon mein

aakharee lau tak aas bachegee

chup to na hogee mohobat

dushvaariyon se dara ke

ummeed isaka lahoo hai

hai dard isakee khuraaken

jitanee jakhm aur judenge

utanee badhengee ye shaakhe

vo kaat daale hame chahe roj

jid jad mein hai kya kare

ek pyaar ek jang

donon ke dosh

ek ghar mein hai kya karenge

ek dil hee bohot hai

kis kis kee paravaah karenge

ham jal jaayenge raakh bachegee

ishq mein ek na aag bachegee

phir bhee in silee aakhon mein

aakharee lau tak aas bachegee

jal jaayenge raakh bachegee

ishq mein ek na aag bachegee

phir bhee in silee aakhon mein

aakharee lau tak aas bachegee

Leave a Comment